AR नेविगेशन फीचर के जुड्ने से  Google Maps में हुआ पहले से बेहतर

गूगल ने 2018 में बताया था की गूगल मैप्स के लिए AR किस तरह काम करेगा। इस नए फीचर के जरिए यह पता चला है कि किस तरह कैमरा के जरिए यूजर्स मैप्स को इस्तेमाल कर पाएंगे। एडवांस्ड नेविगेशन सिस्टम किस तरह यूजर्स को डायरेक्ट या पॉप-अप के जरिए बिजनेस और शॉप्स की तरफ नेविगेट करेगा। इसका इस्‍तेमाल कैमरे के साथ भी किया जा सकता कंपनी द्वारा दिये डेमो में गूगल मैप्स के पहले वर्जन को ऑगमेंटेड रिएलिटी के साथ दिखाया गया है। नया फीचर पुराने वर्जन से काफी अलग नहीं है जिसे गूगल की मई 2018 की डेवलपर कॉन्फ्रेंस में दिखाया गया था। नए फीचर में आधी स्क्रीन पर मैप्स और आधी पर रियल-वर्ल्ड सराउंडिंग्स की जानकारी दी गई है । मैप्स का UX डिजाइन लीड करने वाली कंपनी का कहना है कि इस ऐप का डिजाइन ऐसा बनाया गया है कि यूजर्स इसे ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल कर पाएं और नई जगहों को ढूंढ पाएंगे।

गूगल मैप्स हुआ बेहतर:

वर्ष 2018 में गूगल की कॉफ्रेंस के दौरान कंपनी ने बताया था कि गूगल मैप्स अब आपका आना-जाना ही आसान नहीं करेगा। बल्कि इसमें अब आपके आस-पास की जगहों की भी जानकारी देगा। यह आपकी पसंद की जगह के अनुसार मैच दिखाएगा। यह फीचर मशीन लर्निंग पर काम करेगा। अपने पसंद की जगहों को शॉर्टलिस्ट कर के अपने दोस्तों के साथ कर पाएंगे शेयर। रियल-टाइम वोटिंग कर के कर पाएंगे तथा जगह का चुनाव भी कर पाऐंगे।

कैमरा में देख पाएंगे मैप्स के फीचर:

इस ऐप्‍स से कैमरा ओपन कर के देख पाएंगे आस-पास की जगहों और रास्तों को । कंपनी  ने इसे विजुअल पोजिशनिंग सिस्टम में बनाया है। उदहारण के तौर पर- जिस तरह हम कसी जगह या रस्ते को याद करने के लिए आस-पास की किसी लोकेशन या बैनर या दुकान आदि को याद रखते हैं। उसी तरह गूगल भी इस सिस्टम की अदद से विजुअल चीजों को याद करेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here