अपने स्लो लैपटॉप की स्पीड इन 4 तरीकों से तेज कर सकते हैं

आपको आज हम स्‍लो लैपटॉप को तेज करने के 04 तरीके बताऐंगे। लेटाप को तेज करने के लिए सॉफ्टवेयर से लेकर हार्डवेयर तक में कुछ जरूरी बदलाव करके आप स्लो चल रहे सिस्टम को सुपरफॉस्ट बना सकते हैं। इन उपायो का उपयोग कर आप आपका पैसा बचाएंगे ।

हार्डवेयर अपडेट

यदि आपको लगता है कि आपका लैपटॉप खराब या फिर पुराना हो गया है, तो इसे बदलने से पहले इस बात को ध्यान दें कि क्या किसी पार्ट को बदलने या फिर अपग्रेड करने से ये नया जैसा हो सकता है। यदि हॉ तो सर्वप्रथम आप आपके लैपटॉप की रैम, स्टोरेज, बैटरी या फिर ग्राफिक्स में से किसी एक में परेशानी आ रही है, तो नया लैपटॉप खरीदने के बजाए आप उस पार्ट को बदल कर अपने पुराने लैपटॉप का इस्तेमाल कर सकते हैं।

वायरस

आपके लैपटॉप के स्लो काम करने का एक सबसे बड़ा कारण वायरस होता है। हम दिन भर में काम करते समय कई वेबसाइट्स पर सर्च करते हैं, जिनसे वायरस ऑन लाइन हमारे सिस्टम में आ जाता है। इसके अलावा हम डिवाइस जैसे पेन ड्राइव, हार्ड डिस्क या फिर स्मार्टफोन को अपने लैपटॉप में कनेक्ट करते हैं। इनसे कई बार हमारे सिस्टम में भी वायरस आ जाता है, जिससे हमारा लैपटॉप जल्दी-जल्दी गर्म होने लगता है या फिर स्लो काम करने लगता है। ऐसे में अपने सिस्टम में एंटीवायरस डाउनलोड करने और सबसे पहले Boot Scan पर लगा दें। Boot Scan आपके पूरे सिस्टम को स्कैन करता है और करप्ट फाइल को या तो रिपेयर करता है या फिर डिलीट कर देता है। Boot Scan के बाद स्लो काम कर रहा लैपटॉप नए जैसा काम करने लगेगा।

हार्ड ड्राइव

लैपटॉप में स्टोरेज की कमी इसकी स्पीड को स्लो कर देती है। ऐसे में अगर आपके लैपटॉप का स्टोरेज फुल हो गया है, तो इसमें पड़े बिना काम वाली फाइल्स को आप डिलीट कर सकते हैं। इसके अलावा आप अपने डाटा को एक्सटर्नल डिस्क या फिर क्लाउड सर्वर पर भी स्टोर कर सकते हैं।

सॉफ्टवेयर

कई बार सिस्टम में पड़े पुराने सॉफ्टवेयर जिन्हें आप काफी समय से इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं वो आपके लैपटॉप को स्लो कर देते हैं। ऐसे में उन सॉफ्टवेयर को डिलीट कर दें जिनका इस्तेमाल आप नहीं कर रहे हैं। इसके अलावा अपने लैपटॉप के सॉफ्टवेयरर्स को लगातार अपडेट करते रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here